First party vs Third party insurance

First party vs Third party insurance

First party vs Third party insurance
First party vs Third party insurance

हेल्लो दोस्तों आज आप सभी को पता चलेगा First party vs Third party insurance में क्या अंतर है अगर आप भी insurance का काम करते हो या करना चाहते हो , साथ में आप को ये भी पता चलेगा की Bike का insurance कैसे करना है इसके लिए आप निचे दिए गए विडियो जरुर देखना , सभी पॉइंट धयान से पढ़े
सबसे पहले ये जन लो आप का कोई भी गाड़ी है , रोड में चलाने के लिए Third Party insurance अनिवार्य है ,
इसी लिए आप कोई भी गाड़ी ख़रीदते हो , तो वो कम्पनी आपको 1 साल या फिर 3 साल का Third Party insurance कर के देता है , उसके बाद ही आप शोरूम से गाड़ी निकाल पते हो |

Third Party insurance के फायदे

1, आपके गाड़ी, से किसी को Accidents हो जाये तो ये Third Party insurance में कवर होता है
2, आपके गाड़ी, से किसी के Property को हनी पोहचता है , तो ये Third Party insurance में कवर होता है
3, आपके गाड़ी, के बेक सीट में कोई बेठा है , और किसी हादसे में कुछ हो जाये तो भी ये , Third Party insurance में कवर होता है
4, आप चाहो तो PA Cover भी ले सकते हो जब Third Party insurance करवाते है ,  PA Cover for Owner-Driver , मतलब गाड़ी के Owner And Driver का भी insurance करवा सकते हो Third Party के अन्दर , वाहन चलते समय कोई हादसा हो जाये तो Owner या  Driver भी Third Party insurance में कवर होता है /
5, याद रहे आप का वाहन का कोई Risk नही लेता है Third Party insurance के अन्दर
सिर्फ और सिर्फ Third Party ही कवर होता है / First party vs Third party insurance

First Party insurance ( Comprehensive ) के फायदे 

1, First Party insurance में वो सरे चीज कवर हो जाता है जो Third Party में आप ने देखा
2, First Party में आपका वाहन भी कवर हो जाता है , लेकिन Third Party में ये सुविधा आप को नही मिलता है ,
3, First Party insurance, कवर जैसे , गाड़ी चोरी होना, गाड़ी में आग लग जाना , किसी तरह से गाड़ी डेमेज हो जाना , इसके साथ साथ Owner, Driver , चार पाया है तो जो पीछे के सीट में है , उन सब का First Party insurance के अंदर कवर होता है ,
नोट:- सबसे बेस्ट First Party insurance है, हाला की Third Party में  अमाउंट थोडा कम लगता है लेकिन फुल Risk होता है First Party insurance में , बाकि आप का मर्ज़ी आप इन दोनों में से कोई एक चुने / कोई भी वाहन के लिए , Third Party insurance अनिवार्य है | First party vs Third party insurance

Share if You Like:

8 thoughts on “First party vs Third party insurance”

  1. Insurance coverage offer you a shield with regard to uncertain occasions and any kind of economic lowering. Pet sitting insurance allows the individuals to cover up the assert when he is usually working in the particular client’s home. Presently consumers become more careful regarding their pet. Some people that have objectives to understand about Pet sitting insurance along with other data can feel free to take a look at http://gitlab.asap.um.maine.edu/snippets/90.

    Reply

Leave a Comment